पत्नी को परखने के लिए आजमाएं यह तीन बातें

यह सच है कि शादी एक पवित्र बंधन है  

और किसी भी व्यक्ति को अपनी पत्नी को "परखने" की कोशिश नहीं करनी चाहिए। 

विवाह पूर्व परामर्श: यह आपको एक दूसरे को बेहतर ढंग से समझने और संभावित संघर्षों को दूर करने में मदद कर सकता है। 

हर व्यक्ति अलग होता है  

और उनका मूल्यांकन करने का कोई एक सही तरीका नहीं होता है। 

लेकिन, अगर आप अपनी होने वाली पत्नी के बारे में बेहतर समझ प्राप्त करना चाहते हैं,  

मूल्य और विश्वास: – क्या आपके जीवन के मूल्य और विश्वास समान हैं?

दूध और केले के साथ मिलकर पिए यह दो चीजे