भारतीय क्रिकेट के पांच दिग्गज जी ने कभी कप्तानी नहीं दी गई

1. सचिन तेंदुलकर: क्रिकेट के भगवान कहे जाने वाले सचिन तेंदुलकर ने 2000 में एक बार भारतीय टीम की कप्तानी की थी, लेकिन स्थायी कप्तान के रूप में उन्हें कभी नियुक्त नहीं किया गया।

1. वीरेंद्र सेहवाग: 'द वीरेंद्र सेहवाग' के नाम से प्रसिद्ध, सेहवाग अपनी आक्रामक बल्लेबाजी के लिए जाने जाते थे। 2007 में उन्हें कुछ मैचों के लिए उप-कप्तान बनाया गया था, लेकिन उन्हें कभी स्थायी कप्तानी नहीं मिली।

1. युवराज सिंह: 'युवी' के नाम से प्रसिद्ध, युवराज सिंह एक शानदार ऑलराउंडर थे। 2007 T20 विश्व कप और 2011 ICC विश्व कप में उनकी भूमिका महत्वपूर्ण थी, लेकिन उन्हें कभी कप्तानी का मौका नहीं मिला।

1. हरभजन सिंह: 'भज्जी' के नाम से प्रसिद्ध, हरभजन सिंह भारत के सबसे सफल ऑफ स्पिन गेंदबाजों में से एक हैं। 2001 में उन्हें कुछ मैचों के लिए उप-कप्तान बनाया गया था, लेकिन उन्हें स्थायी कप्तानी नहीं मिली।

1. वीरू प्लेस: 'वीरू' के नाम से प्रसिद्ध, प्लेस एक बेहतरीन विकेटकीपर बल्लेबाज थे। 2004 में उन्हें कुछ मैचों के लिए उप-कप्तान बनाया गया था, लेकिन उन्हें स्थायी कप्तानी नहीं मिली।

इनमें से कुछ खिलाड़ियों ने उप-कप्तान के रूप में टीम का नेतृत्व किया है, और उन्होंने अपने करियर में कई महत्वपूर्ण योगदान दिए हैं.